लेखकों के लिए सार्वजनिक भाषण देने के 5 गुर

By on मई 24, 2017 in Self Help

लेखकों के लिए सार्वजनिक भाषण देने के 5 गुर

यदि आप एक लेखक हैं और आत्म-विकास के लिए कुछ समय समर्पित करना चाहते हैं तब सार्वजनिक भाषण के लिए प्रयास कर सकते हैं। सार्वजनिक वक्ता होना केवल आपके आत्मविश्वास की वृद्धि ही नहीं करेगा, यह आवश्यकता पड़ने पर नेतृत्व देने और दृढ़संकल्प होने में भी आपकी सहायता करेगा। यह हितलाभ लेखक के रूप में आपके कैरियर की पुष्टि भी करेंगे। यदि आप अपना पहला भाषण देने की योजना बना रहे हैं, चाहे यह सार्वजनिक वक्तव्य समूह हो, या आपका काम, या लेखकों का सम्मेलन हो, आपकी सहायता के लिए हमने यहाँ 5 गुर एकत्रित किया है।

1. अपने विषय पर शोध कीजिए

यदि आपके भाषण का विषय कोई ऐसा क्षेत्र है जिसके संबंध में आप पहले से ही जानते हैं, तब आपको अधिक नई सामग्री सीखने की आवश्यकता नहीं है। तथापि, यदि आप किसी ऐसे विषय पर बोलने की योजना बना रहे हैं जिससे आप परिचित नहीं हैं तब आप जिस बारे में बोल रहे हैं उस पर आपको आत्मविश्वास है यह सुनिश्चित करने के लिए आपने सभी प्रासंगिक तथ्य संग्रह कर लिया है। आजकल किसी भी विषय पर सूचना पाने के लिए इंटरनेट सबसे आसान रास्ता है। इसे प्रबंधन योग्य रखने के लिए, उन संसाधनों को तीन या चार तक सीमित कीजिए जिन्हें आप अपने भाषण के लिए शोध करने के लिए उपयोग कर रहे हैं, जिससे आप अपने पास की सूचना से अभिभूत नहीं हो जाएँ।

2. अपने शब्द का समर्थन करने के लिए अभिव्यक्तियों का उपयोग कीजिए

एक नाटकीय वक्तव्य यह सुनिश्चित करेगा कि आपके श्रोता, जो भी कहा जा रहा है उसमें रम गए हैं। आप इसे कैसे करते हैं? मुखमुद्रा की अभिव्यक्तियाँ एक प्रभावी उपाय है। उदाहरण के लिए, यदि आप किसी विषय पर बोल रहे हैं और अचानक जो शब्द बोलते हैं वह उदासी अभिव्यक्त करते हैं, तब अपनी मुखमुद्रा से उदासी अभिव्यक्त करने का प्रयास करें। अपने कंधों को अंदर झुकाते हुए अपनी शारीरिक भाषा भी बदल सकते हैं। इसे कैसे करना है इस संबंध में इससे आगे अवधारणा बनाने के लिए, टीवी पर अपने चहेते अभिनेता को देखें। आवाज़ कम कर दीजिए। अब, वह अभिव्यक्तियाँ लक्ष्य कीजिए जिसे वह अभिनेता प्रस्तुत करता है और अंदाजा लगाने का प्रयास कीजिए कि कौन सी तदनुसार भावनाएँ संचारित की जा रही हैं।

3. दोहराना

एक बार जब आपका भाषण लिखा जा चुका है, तब आप इसका धाराप्रवाह प्रदर्शन करें इसके लिए एकमात्र उपाय है इसे दोहरा कर अभ्यास करना। दो-चार बार अपने वक्तव्य को जोर से पढ़ें, जिससे आप अपने वक्तव्य की विषय-वस्तु को जान लें। यदि आप नहीं चाहते हैं तो आपको भाषण याद करने की आवश्यकता नहीं है। यदि आप अपने भाषण को हृदयंगम नहीं करने का निर्णय लेते हैं, तब यह सुनिश्चित करें कि आप इसे अच्छी तरह जान गए हैं, इसलिए यदि इसे देते समय आप कुछ भूल भी जाते हैं, तब यह आपकी आपूर्ति पर न्यूनतम प्रभाव डालेगा। ऐसी परिस्थिति में, नोट्स विशेष रूप से सहायक हो सकते हैं जैसे नीचे के शीर्षक में वर्णन किया गया है।

4. नोट का उपयोग

आप अपने भाषण के महत्वपूर्ण अंश नहीं भूलें इसे सुनिश्चित करने के लिए एक उपाय है – नोट का उपयोग करना। उदाहरण के रूप में, आप प्रौम्प्ट कार्ड्स का उपयोग कर सकते हैं, जहाँ प्रत्येक कार्ड आपके भाषण का मुख्य अंश है, और प्रत्येक कार्ड में आप दो-तीन वाक्य लिख सकते हैं, जिन्हें बुलेट प्वाइंट किया गया है, और यदि उनकी आवश्यकता हो तब वे प्रौम्प्ट के रूप में काम कर सकते हैं।

5. अपने भाषण की गति बदलें और रुकावट का उपयोग करें

असंबद्ध गति से प्रदर्शन से बचें। इसके बदले उचित समयों पर अपने भाषण की गति बदलिए। फिर, भावनाओं पर विचार यह निर्धारित कर सकता है कि मंद गति से बोलेंगे या तीव्र गति से। उदाहरण के लिए, यदि आप उत्तेजना का संचार करना चाहते हैं, तब आपके भाषण की गति तीव्रतर हो सकती है। अपने भाषण के महत्वपूर्ण अंशों की आपूर्ति करने से पहले आप रुकावट का उपयोग भी कर सकते हैं। रुकते हुए, आप अपने श्रोताओं में प्रत्याशा की सृष्टि कर सकते हैं जो उत्सुकता से आपके जारी होने तथा अपना मुद्दा रखने के लिए प्रतीक्षा करेंगे।

Image credit: Pixabay

Hiten Vyas is the Founder and Managing Editor of Writing Tips Oasis.

Comments

Post a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *