लेखक अक्रियाशीलता रोकने के लिए 5 गुर

By on अप्रैल 22, 2017 in Self Help

जहाँ बहुत से लेखक लेखकों का अवरोध (writer’s block) रोकने के लिए बहुत से उपाय करते हैं, वे एक अन्य समस्या भूलने के लिए प्रवृत्त होते हैं: लेखकों की अक्रियीशीलता (writer burnout), जो बहुत अधिक गंभीर है। लेखकों के अवरोध के विपरीत, जो अधिक से अधिक अस्थायी होते हैं, लेखकों की अक्रियाशीलता उस व्यक्ति को लिखने के वृत्ति से पूरी तरह से दूर करने का कारण बन सकती है। यदि आप उन अभागे लेखकों में से एक नहीं बनना चाहते हैं जिन्होंने अपनी वृत्ति बदलने का निर्णय ले लिया है, तब लेखकों की अक्रियाशीलता रोकने के लिए यहाँ 5 गुर दिए गए हैं:

1. जब आप लिख रहे हों तब अन्यमनस्कता कम करें

जब आप लिख रहे हों, तब उन चीजों को कम करना सुनिश्चित करें जो आपके द्वारा किए जा रहे कार्य को बंद करने का कारण बन जाएँ, विशेष रूप से, यदि यह अनगिनत क्षणिक अवकाशों का कारण बन रहा है। इसका अर्थ है कि आपको टीवी बंद करने,  SMS की अनदेखी करने, और कदाचित आपकी PC में इनस्टॉल किए गेम्स को निकाल देने की आवश्यकता है। यदि आप लिख रहे हैं, तब केवल लिखें, और कुछ भी नहीं करें। इसका कारण है कि लिखने से निरंतर अन्यमनस्क होते रहना आपको गतिवर्धन का निर्माण करने से रोकेगा, और निष्फल सृजनशील प्रक्रिया का पुनः आरंभ करने में निरंतर ऊर्जा व्यय करना आपको शीघ्रता से थका देगी, ठीक उसी तरह, जैसे बार-बार आकस्मिक ब्रेक लगाने पर कार के पहिए घिस जाते हैं।

2. वचनबद्धता की अति न हीं करें

यह सामान्य बोध है कि किसी चीज का अत्यधिक उपयोग इसके अक्रियाशील बनने का कारण है, इसलिए यह विचित्र बात है कि कई लेखक आपने पर अतिरिक्त बोझ लेते हैं; वे अपनी व्यक्तिगत परियोजनाओं को संभालते हुए, जितने ले सकते हैं उतने ग्राहक लेते हैं, तथा अन्य किसी भी चीज के लिए समय नहीं छोड़ते। यह विशेष रूप से खतरनाक है क्योंकि सामर्थ्य से अधिक काम करने वाले लेखक खराब गुणवत्ता की कृतियों का उत्पादन करेंगे, जो अंत में लेखक तथा ग्राहकों, दोनों के लिए निराशा का कारण बनेगा, और प्रभावी रूप से उस लेखक का कैरियर समाप्त कर देगा।

3. सहायता लीजिए

यदि आप जीविका के लिए लिख रहे हैं, तब आप जानते हैं कि उस कार्य में ऐसे काम अपरिहार्य होते है जिसका स्वयं लिखने से कुछ भी लेना-देना नहीं है। आपको इनवायस भेजने पड़ते हैं, ग्राहकों से पत्राचार करना होता है, डिजाइनरों के साथ काम करना पड़ता है, या यह भी हो सकता है कि html कोड्स और आयोजन सेवाओं में लगे रहना पड़े। यह कहना अनावश्यक है कि यह सभी अन्यमनस्कताएँ लेखकों अक्रियाशीलता में अनुदान करती हैं। यहाँ समाधान है अपने कार्य का बाह्यस्रोत करना। हो सकता है कि आपका कोई संबंधी या मित्र हो जो कम शुल्क पर, (या मुफ्त में भी, यदि आपका जीवन-साथी इच्छुक है) अतिरिक्त काम कर दे। यह उन्हें बहुत थोड़ा सा काम प्रतीत होगा, परंतु यही छोटे-छोटे काम इकट्ठे हो कर आपको अधिक अक्रियाशीलता-प्रवण बनाते हैं।

4. सीमाएँ स्थापित कीजिए

फ्रीलैंस लेखक इसके अधिक प्रवण होते हैं। उनमें से अधिकांश ने वह वृत्ति अपनाया था क्योंकि वे “जब कभी भी” चाहें, काम कर सकते हैं। दुर्भाग्यवश, यह स्वतंत्रता ही उनके पतन का कारण बनी, क्योंकि वे जितना चाहते हैं काम करने के लिए प्रवृत्त होते हैं। कमाई के पदों में यह अच्छा है, परंतु यह अस्थायी है। यह सब-कुछ बंद हो जाता है जब लेखक ने इतना काम कर लिया है कि अब वह और काम सहन नहीं कर सकता। आपको इसके साथ काम के रूप में व्यवहार करना चाहिए: अपने काम के लिए अनुसूची स्थापित कीजिए। अपना लिखने का काम नौ से पाँच कीजिए और जब भी संभव हो, ओवरटाइम से बचिए, या, यदि आप अपने कार्य में अधिक नमनीयता चाहते हैं तब सप्ताहांतों पर कार्य करने से बचिए।

5. छुट्टियों पर जाइए

यह इसे याद रखने में भी सहायता करता है कि आप कोई काम करने के लिए कितने भी इच्छुक हैं, इसका कोई भी अर्थ नहीं है — जब आप इसे दिन-रात करते रहते हैं, तब आप स्वयं को अक्रियाशील बना रहे हैं। इसलिए इसे सुनिश्चित कीजिए कि आप हर पल नहीं लिख रहे हैं। काम से दूर समय बिताइए। आप समुद्र-तट पर जा सकते हैं, या अपने प्रियजनों के साथ दृश्यावलियाँ देख सकते हैं। या आप यदि उन्मुक्त प्रकृति से अनासक्त हैं तब आप अपना कंप्यूटर बंद करते हुए इसके बदले में बच्चों के साथ खेल सकते हैं, या अपे जीवन-साथी के साथ कोई अच्छा चलचित्र देखने में समय व्यतीत कर सकते हैं। यह आपको अक्रियाशील बनने से रोकेगा और हो सकता है कि आपकी सृजनशीलता भी कुछ प्रोत्साहित हो जाए, क्योंकि आप अपने काम पर तरोताजा और तनावमुक्त परिप्रेक्ष्य के साथ लौटेंगे।

Hiten Vyas is the Founder and Managing Editor of Writing Tips Oasis.

Comments

Post a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *