5 चिह्न कि आपका नया पुस्तक व्यवसाय असफल हो सकता है

By on मार्च 16, 2017 in Special Features

Pin It

किसी भी प्रकार के जोखम व्यवसाय में खतरों की मात्रा बहुत बड़ी होती है। पुस्तक व्यवसाय शुरू करना भी कोई अपवाद नहीं है। अपना व्यापार चलाने के लिए, और अनगिनत बाधाओं से गुजरते हुए प्रगति करने के लिए, बड़ी मात्रा में समर्पण, दृढ़ता तथा आत्मविश्वास की आवश्यकता है।

सामान्यतः, यदि आप किसी पृथक बाजार के उन पाठकों के लिए पुस्तकें लिखने में सक्षम हैं जो वही चाहते हैं जिसे आप लिखते हैं, अच्छी तरह से अपनी पुस्तकों का विपणन कर सकते हैं, उनका विक्रय करते हैं और चक्र को जारी रखते हैं, तब आपने अच्छी शुरुआत की है। तथापि, यदि आपके पुस्तक व्यवसाय को चलाने के लिए अंतर्निहित कारण सही नहीं हैं, तब आपके वास्तव में सफल होने के संयोग पहले ही कम हो जाते हैं। उन 5 चिन्हों के संबंध में जानने के लिए आगे पढ़िए जिनसे आपका पुस्तक व्यापार सफल नहीं हो सकता है।

1. प्रकाशित होने में वास्तविक रुचि नहीं है

इसका सामना कर लेते हैं। जब आप स्कूल में थे और उस कक्षा में बैठते थे जिससे आप घृणा करते थे, तब क्या आप इस पर कठिन परिश्रम करने के लिए प्रेरित होते थे? अधिक संयोग हैं कि नहीं। आपके पुस्तक व्यापार के साथ भी यही है। यदि आप वास्तव में लिखने और प्रकाशित होने में रुचि नहीं लेते, तब आप संघर्ष करेंगे। प्रकाशन उद्योग में वास्तव में रुचि होना आपको सप्ताहों, महीनों और वर्षों तक  प्रेरित रहने में सहायता करेगा।

2. इसे केवल पैसे के लिए कर रहे हैं

उद्यम-वृत्ति का बड़ा अंश धन की सृष्टि करना है, और अधिकांश उद्यमी अपने उत्पादों और सेवाओं का विक्रय करना तथा अपने व्यापार खातों में जमा होते हुए धन को पसंद करते हैं। किसी पुस्तक उद्यमी के रूप में, मुझे पूरा विश्वास है कि आप अपनी पुस्तकों के विक्रय में निरंतर वृद्धि होते रहना देखना पसंद करेंगे!

तथापि, यदि आप केवल डॉलर चिह्नों के लिए इसमें हैं, तब इसके साथ खतरा लिप्त है। यदि आप सफलता को उतना शीघ्र नहीं देख पाते हैं, जितना आप चाहते हैं तब आप निरुत्साहित हो सकते हैं। केवल पैसा बनाने पर ध्यान केंद्रित करते हुए, दूसरे महत्वपूर्ण पहलुओं को खो देने की संभावना है, जैसे उन महान पुस्तकों को लिखना जो आपके पाठकों को आनंद देते हैं, अपने ग्राहकों को प्रथम श्रेणी की सेवाएँ प्रदान करना, इत्यादि, इत्यादि। अपने व्यापार में कार्य करते हुए सच्चा आनंद लेना भी महत्वपूर्ण है, और इसमें सबसे पहले और आगे अनुराग की आवश्यकता है।

3. पर्याप्त नगदी नहीं होना

यदि आप अपने पुस्तक उद्योग का अभी-अभी आरंभ कर रहे हैं, तब शुरुआत में, आपकी कृति का विक्रय करते हुए जितने पैसै बनेंगे नहीं — उससे अधिक नुक्सान होंगे। अतः, आरंभ में, अपनी बचत से या अपने परिवार के समर्थन से या ऋण ले कर, आपको सुनिश्चित करना पड़ेगा कि अपनी लागत को आवृत करने के लिए आपके पास पर्याप्त पैसे हैं जब तक अंत में आपका व्यापार लाभप्रद हो जाता है।

4. धैर्य नहीं रहना

कई बार, किसी व्यापार के असफल होने का कारण उसके प्रतिष्ठाता को सफल होने के लिए धैर्य का नहीं रहना है। आप पैसे नहीं बना रहे होंगे। आप अपने विपणन के बारे में अनिश्चित होंगे और प्रगति का अभाव आपको छोड़ने के लिए बाध्य करता है। तथापि, यदि आप और कुछ समय तक लगे रहते, तब सफलता बिल्कुल निकट थी।

5. आत्मविश्वास का अभाव

एक दूसरा गुणक जो आपको पीछे खींच सकता है वह है अपनी क्षमताओं में विश्वास का अभाव। आपको संदेह हो सकता है कि क्या आप वास्तव में पुस्तक व्यापार चलाने के लिए बनाए गए हैं। अपने-आप पर भरोसा रखना महत्वपूर्ण है। आपने पहले भी चुनौती-भरी परिस्थितियोँ का सामना किया है। आप अपने व्यापार के साथ उन्हें फिर कर सकते हैं। दूसरे लोग भी, जिन्हें आप जानते हैं, अपने संदेह व्यक्त कर रहे होंगे, और आप पर  अपनी कल्पना कर रहे होंगे। इन स्थितियोँ में सबसे अच्छा है इनकी अनदेखी करना और अपने रास्ते पर आगे बढ़ जाना।

Hiten Vyas is the Founder and Managing Editor of eBooks India. He is also a prolific eBook writer with over 25 titles to his name.
Pin It

Comments